Saubhagya Mantra | भारत संस्कारों की जननी
Follow Us         

सौभाग्य मंत्र

Saubhagya Mantra

देहि सौभाग्यमारोग्यं देहि मे परमं सुखम्। रूपं देहि जयं देहि, यघो देहि द्विषो जहि।।

Dehi Saubhagyamaarogyam Dehi Me Paramam Sukham Rupam Dehi Jayam Dehi, Yasho Dehi Dwisho Jahi ||

सौभाग्य मंत्र का अर्थ


"मुझे अच्छा स्वास्थ्य, भाग्य, और परम सुख प्रदान करें। मुझे सौंदर्य और विजय प्रदान करें, और मेरे मार्ग से सभी बाधाओं और शत्रुओं को हटा दें।"

सौभाग्य मंत्र का वर्णन 


यह एक शक्तिशाली आह्वान है जो शारीरिक, भावनात्मक और आध्यात्मिक कल्याण की इच्छा व्यक्त करता है। बहुत से लोग मानते हैं कि इस श्लोक का नियमित रूप से पाठ करने से उनके जीवन में आशीर्वाद और सकारात्मक ऊर्जा आ सकती है।
आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इस पेज को ज़रूर लाइक करें और नीचे दिए गए बटन दबा कर शेयर भी कर सकते हैं
सौभाग्य मंत्र
   42   0

अगला पोस्ट देखें
ओम सह नाववतु मंत्र
   43   0

Comments

Write a Comment


Name*
Email
Write your Comment
चामुंडा मंत्र
- Anonymous
   55   0
मातंगी मंत्र
- Anonymous
   51   0
ओम सह नाववतु मंत्र
- Anonymous
   43   0
शक्ति दायिनी मंत्र
- Anonymous
   31   0
समस्या निदान मंत्र
- Anonymous
   62   0
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः मंत्र
- Anonymous
   49   0
ॐ सर्वेषाम मंत्र
- Anonymous
   39   0
ॐ पूर्णमदः पूर्णमिदं मंत्र
- Anonymous
   35   0
कुबेर धन प्राप्ति मंत्र
- Anonymous
   1   0
By visitng this website your accept to our terms and privacy policy for using this website.
Copyright 2024 Bharat Sanskaron Ki Janani - All Rights Reserved. A product of Anukampa Infotech.
../